Madhya Pradesh Human Rights Commission

Press Release/ Published News

इंसाफ को तरसी आंखें, अफसरों के पास जांच के लिए समय नहीं
मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष माननीय न्यायमूर्ति श्री नरेन्द्र कुमार जैन ने ग्वालियर जिले के मुरार प्रसूति गृह में 10 दिन पहले डिलेवरी के दौरान एक बच्चे की मौत हो जाने के मामले 10 दिन बाद भी रिपोर्ट तो दूर अब तक जांच भी शुरू नहीं होने के मामले में संज्ञान लेकर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ग्वालियर से तीन सप्ताह में प्रतिवेदन मांगा है।